Http kya hai https kya hai , https vs http


हेलो नमस्कार स्वागत है आप सभी का webtunebd के आज के इस आर्टिकल में जिसमें हम आप सभी बताने वाले है कि एचटीटीपी (http) क्या होता है और एचटीटीपीएस (https) क्या होता है और दोनों में क्या अंतर है और कौन अच्छा है तो अगर आप यही सब कुछ जानना चाहते है तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़िए!

इंटरनेट का उपयोग तो सभी चलाते है और ऑनलाइन शॉपिंग भी करते है और इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग भी खूब किया जाता है परन्तु ना जाने कितने ही debit card और बैंकिंग फ़्रॉड होते है परन्तु फिर भी लोग इंटरनेट का उपयोग करते है क्योंकि जिन logo के साथ फ़्रॉड होते है उन्हें कुछ इंटरनेट से जुडी सावधानियों के बारे में पता नहीं होता है और इसीलिए उनके साथ ऐसा होता है|

जो लोग इंटरनेट ka उपयोग करते है और उनके साथ किसी प्रकार का फ़्रॉड नहीं होता है क्योंकि उनकी इंटरनेट से जुडी काफ़ी जानकारी पता होती है और वह पूरी सावधानी रखते है|

आपके साथ भी ऐसा ना हो इसीलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको एचटीटीपी और https के बारे बताने जा रहे है |चलिए पहले जानते है कि एचटीटीपी क्या होता है |



एचटीटीपी (http) क्या है?


एचटीटीपी (http) का फुल फॉर्म हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल (Hypertext transfer protocol) है और http एक एप्लीकेशन लेयर ट्रांसमिटिंग प्रोटोकॉल है जिसका उपयोग हम hypermedia डॉक्यूमेंट जैसे कि html file का ट्रांसफर करने के लिए उपयोग करते है | 

Http प्रोटोकॉल को वेब ब्राउज़र और वेब सर्वर्स के बीच कम्युनिकेशन बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है परन्तु इसका उपयोग अन्य कई perpose के लिए भी किया जाता है | एचटीटीपी क्लाइंट server मॉडल को फॉलो करता है | 



एचटीटीपी के उपयोग से हानि-


अभी जैसा कि मैंने आप सभी को बताया कि एचटीटीपी एक प्रोटोकॉल है जिसका उपयोग हम वेब ब्राउज़र और वेब सर्वर के बीच कम्युनिकेशन बनाने के लिए करते है |

एचटीटीपी को उपयोग करनी कि एक सबसे बड़ी हानि यही है कि यहाँ पर वेब browser और सर्वर के बीच जो भी कम्युनिकेशन होती है वह plain text के रूप होती है यही कारण है कि एचटीटीपी को सुरक्षित नहीं मना जाता है, क्योंकि कि यहाँ पर आपके और सर्वर के बीच क्या कम्युनिकेशन या data ट्रांसफर हो रहा है उसे कोई भी हैकर आराम से sniffing कि मदद से देख और कैप्चर कर सकता है |

Note : इसीलिए कभी ऐसी वेबसाइट पर credit card, debit card, और इंटरनेट बैंकिंग id और पासवर्ड enter नहीं करने चाहिए जहाँ पर एचटीटीपी लगा हुआ हो | 



एचटीटीपीएस क्या है?


एचटीटीपीएस (https) का फुल फॉर्म हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल सिक्योर (hypertext transfer protocol secure) है यह एचटीटीपी कि एक्सटैंशन है जिसका उपयोग हम कंप्यूटर नेटवर्क और वेब सर्वर के बीच सिक्योर कम्युनिकेशन करने के लिए किया जाता है, इसके अंतर्गत क्लाइंट और web servers के बीच जो भी कम्युनिकेशन होती है वह एन्क्रिप्ट होती है |

जिसको अगर कोई sniffing के जरिए देख रहा है और कैप्चर कर रहा तब भी वह उसे पढ़ नहीं सकता है क्योंकि वह binary 0101 के फॉर्मेट में होती है |



एचटीटीपीएस के उपयोग से लाभ-


जैसा कि आप सभी जानते है एचटीटीपी प्रोटोकॉल में सर्वर और क्लाइंट के बीच जो भी कम्युनिकेशन और data ट्रांसफर होता है plain text को फॉर्मेट में होता है जबकि https प्रोटोकॉल में जो भी कम्युनिकेशन होती है वह एन्क्रिप्टेड होती है जिसकों कोई पढ़ नहीं सकता है क्योंकि वह binary फॉर्मेट मैं होता है |

इसीलिए कहा जाता है कि कभी शॉपिंग करें या ऑनलाइन पर्चेस करें तो हमेशा https enable वेबसाइट पर ही करें और अपने क्रेडिट card या debit card या इंटरनेट बैंकिंग id और password को enter करें | 



conclusion -


 - मुझे उम्मीद है कि आपको आज के इस पोस्ट के माध्यम से शेयर कि गई जानकारी पसंद आई होगी, अगर आपको यह जानकारी पसंद आए तो इसे शेयर करिए और कमेंट करके बताए कि आपको यह पोस्ट कैसा लगा |

Post a Comment

Previous Post Next Post